कोरोना वायरस लक्षण व बचाव (Corona Virus Symptoms & Precautions)

कोरोना वायरस लक्षण बचाव

कोरोना वायरस एक वैश्विक महामारी के रूप में उभर कर सामने आया है। यह बहुत तेजी से दुनिया भर में फैल रहा है और कोरोनावायरस से मरने वाले लोगों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है।

चीन के वुहान के सी फूड बाजार से शुरू हुआ कोरोनावायरस अब तक 170 से अधिक देशों में पहुंच गया है और इसके संक्रमण से मरने वाले लोगों की संख्या 10,000 से ज्यादा हो गई है।विश्व स्वास्थ्य संगठन ( डब्ल्यूएचओ )ने इसे महामारी घोषित कर दिया है।


क्या है कोरोनावयरस ?

कोरोना वायरस (COVID-19) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर मर्स और सार्स जैसे गंभीर रोग होते हैं। इस वायरस को पहले कभी नहीं देखा गया है, यह एक आरएनए (RNA) वायरस है जो शरीर के अंदर कोशिकाओं में टूटता है और उनका उपयोग खुद को पुनः उत्पन्न करने में करता है। इस वायरस को रोकने के लिए अभी तक कोई दवा नहीं बनी है।


कोरोना वायरस के लक्षण

व्यक्ति के शरीर में पहुंचने पर यह वायरस उसके फेफड़ों को संक्रमित करता है। इसमें व्यक्ति को बुखार के बाद सूखी खांसी बाद में सांस लेने में तकलीफ होती है। नाक बहना और गले में खराश जैसी समस्याएं भी उत्पन्न होती हैं। यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में बहुत तेजी से फैलता है अधिक उम्र के लोगों के लिए, डायबिटीज और हार्ट के मरीजों के लिए यह बहुत घातक है।

सुरक्षा के उपाय

दुनिया भर की सरकारें कोरोना वायरस को लेकर लोगों को जागरूक करने पर ध्यान दे रही हैं और कोरोना वायरस के लक्षणों को पहचान कर ही कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है।


क्या करें-

(1) अपनी व्यक्तिगत स्वच्छता पर ध्यान दें।

(2) साबुन से कई बार हाथ धोए। अपने हाथों को अल्कोहल आधारित हैंडवाश या साबुन और पानी से अच्छी प्रकार से       20 सेकंड तक धुले।

(3) छींकते खास्ते समय अपने मुंह को रुमाल या टिशु से ढके।

(4) प्रयोग के बाद टिशू को किसी बंद डिब्बे में फेंके।

(5) यह वायरस हवा के माध्यम से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है इसलिए मुंह पर मास्क लगाकर घर से 
    बाहर निकले।

(6) सर्दी, फ्लू से संक्रमित व्यक्ति के पास जाने से बचें और यदि जाएं तो अपने आंख नाक और मुंह को ढके।


 क्या ना करें-

(1) किसी भी तरह का मांस खाने से बचें मांस पका कर खाएं।

(2) जंगली जानवरों पालतू पशुओं से एक निश्चित दूरी बनाकर रखें।

(3) सार्वजनिक स्थानों पर थूकने से बचें।

(4) अगर हो सके तो अनावश्यक यात्रा करने से बचें

(5) जीवित पशुओं के बाजारों में या जानवरों के वध किए जाने वाले स्थानों पर ना जाएं।

(6) यदि आपको बुखार खांसी और जुखाम हो, तो लोगों के संपर्क में न आए और यात्रा भी ना करें।

(7) अपनी आंख मुंह और नाक को बार-बार ना छुएँ


कोरोना वायरस के लक्षण आम फ्लू जुखाम से मिलते जुलते हैं, ऐसे में इस में अंतर समझना बेहद जरूरी है।


कब कराएं जांच-

यदि आपको खांसी ,बुखार या सांस लेने में कठिनाई जैसे लक्षण है, तो आपको कोविड- 19 की जांच करवाने की आवश्यकता है। शरीर में तेज दर्द के साथ कमजोरी, लिवर और किडनी में परेशानी, सांस लेने में परेशानी, निमोनिया के लक्षण दिखना, तेज बुखार, जुखाम- खासी होने पर आपको डॉक्टर से शीघ्र संपर्क करना चाहिए। ऐसे में किसी भी प्रकार की लापरवाही ना बरतें और सरकार द्वारा दिए गए हेल्पलाइन नंबर का उपयोग करें और मदद लें।


सामाजिक दूरी है जरूरी 

कोरोना वायरस का संक्रमण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में पास आने और छूने से फैलता है। ऐसे में कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने और कम करने के लिए सामाजिक दूरी बहुत ही आवश्यक है। पहले दो हफ्तों के समय में संक्रमण के लक्षणों का पता चल जाता है। यदि किसी व्यक्ति को संक्रमण है, तो वह इतने दिनों में सामने जाएगा। इस बीच सामाजिक उचित दूरी बनाकर रखेंगे, तो उससे दूसरों को संक्रमण होने का खतरा कम हो जाएगा।
सामाजिक दूरी सभी के लिए जरूरी है, चाहे उनमें किसी तरह के लक्षण हो या ना हो इसके सकारात्मक परिणामों के लिए हम सभी को सख्ती से इसका पालन करना होगा।


रोग प्रतिरोधक क्षमता बनाएं मजबूत

कोरोना वायरस जैसी गंभीर बीमारी से बचने के लिए सावधानी बरतने के  साथ ही हमें अपनी इम्यूनिटी को मजबूत बनाए रखना भी जरूरी है।जब हमारा रोग प्रतिरोधक तंत्र कमजोर होता है, तो हम आसानी से बीमारियों का शिकार हो जाते हैं। किसी वायरस के संक्रमण होने पर इम्यून सिस्टम टी -सेल पैदा करता है और एंटीबॉडी का निर्माण करता है लेकिन जिन व्यक्तियों का इम्यून सिस्टम कमजोर होता है उनका शरीर इन वायरस से नहीं लड़ पाता है और वह आसानी से बीमार पड़ जाते हैं।

पौष्टिक भोजन करें-
 अपने इम्यूनिटी को मजबूत करने के लिए विटामिन ,एंजाइम और मिनरल से भरपूर पौष्टिक चीजें खाएं। खाने को अच्छी तरह पका कर खाएं। कच्ची सब्जियों को अच्छी तरह धोकर ही खाएं। नींबू, मुसम्मी ,संतरा और आंवला जैसे खट्टे फलों को खाएं जिनमें विटामिन सी की भरपूर मात्रा होती है।

खूब पानी पिएँ 
  शरीर में पानी की कमी ना हो इसके लिए अधिक से अधिक पानी पिएँ सुबह एक गिलास गुनगुना पानी पीना अच्छा होता है।

अपने आसपास सफाई रखें
 आसपास की गंदगी भी कमजोर इम्यूनिटी वालों में संक्रमण के खतरे को बढ़ा देती है इसलिए अपने आसपास सफाई रखें।

नींद पूरी करें
 नींद लेने से इम्यून सिस्टम को पुनः निर्माण करने के लिए पूरा समय नहीं मिलता और वह कमजोर हो जाता है ऐसे में कम से कम 6 से 8 घंटे की नींद जरूर ले।

शारीरिक रूप से सक्रिय रहें
 ज्यादा आराम करने से भी इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है इसलिए  सक्रिय रहना जरूरी है।आप उसके लिए पैदल चलें व्यायाम योग करें।

तनाव ना लें 
तनाव से इम्यून सिस्टम प्रभावित होता है। नियमित रूप से प्रतिदिन 10 से 20 मिनट तक ध्यान करें इससे आपका मस्तिष्क भी शांत होगा और आपको तनाव भी नहीं होगा।


बच्चों से करोना पर करें बात-

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार के आदेश पर सभी स्कूल बंद किए गए हैं। ऐसे में बच्चे घर पर ही समय बिता रहे हैं आपको इन बातों पर ध्यान देने की जरूरत है -

1-आप इस संक्रमण से संबंधित जानकारी खतरे के बारे में बच्चों को बताएं उनके सवालों के जवाब दें।
2- ध्यान रखें कि बच्चों को उनकी उम्र के हिसाब से ही बात बताएं।
3- वायरस से जुड़ी खबरें टीवी या इंटरनेट पर देखने को सीमा तय करें। एक विषय पर ज्यादा पढ़ने से चिंता बढ़ सकती है।
4- घर में या फोन पर किसी वयस्क या बच्चे से कोरोना पर बात करते हुए खुद को शांत और सकारात्मक रखें।
5- बच्चों को घर में खेलने को कहे। उन्हें बाहर ना जाने दे
6-बच्चों को यह जरूर बताएं कि इस कोरोनावायरस से उनको बहुत कम खतरा है।

No comments:

Post a Comment