4 Steps to keep your lungs healthy/ फेफड़ों को स्वस्थ रखने के ४ उपाय।।

कोरोना वायरस का कहर इस वक्त हमारे देश पर बहुत ही बुरी तरह से फैल रहा है और इसका सबसे ज्यादा असर हमारे फेफड़ों पर पड़ रहा है। कोरोना के इस स्ट्रेन में जिसे भी वायरस अपनी गिरफ्त में ले रहा है उसके फेफड़े धीरे-धीरे खराब होते जा रहे हैं और बिना ऑक्सीजन के लोगों का जीवित रहना मुश्किल हो गया है। तो जब हम सब इस बात को जानते हैं कि यह वायरस सीधे हमारे फेफड़ों पर आक्रमण कर रहा है तो क्यों ना हम सब अपने फेफड़ों को स्वस्थ व मजबूत बनाएं, उसकी कार्यप्रणाली को मजबूत करें ताकि हम इस वायरस से लड़ सके और खुद की जिंदगी बचा सके इसलिए आज के इस वीडियो में लेख में मैं आपको बताऊंगी कि किस तरह से आप अपने फेफड़ों को स्वस्थ रख सकते हैं।

लेख शुरू करने से पहले मैं आपको बता दूं कि हम यहां कोई कोरोना का इलाज नहीं दे रहे हैं बस इससे बचने और अपने फेफड़ों को स्वस्थ रखने के तरीके बता रहे हैं। यदि आप कोविड पॉजिटिव है तो कृपया डॉक्टर द्वारा बताई गई दवाओं को ही लें और उन्हीं के निर्देशों का पालन करें।




फेफड़ों को स्वस्थ व मजबूत रखने के 4 उपाय :-

फेफड़ों को स्वस्थ व मजबूत बनाने की इस प्रक्रिया को हम चार भागों में विभाजित करेंगे:-
1- फेफड़ों के कमजोर होने के कारण और उसके लिए किन चीजों से आपको बचना चाहिए
2- फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूरी आहार
3- कैसे फेफड़ों को डिटॉक्स (Detox) करें और
4- योग और ध्यान (Meditation)

(1) फेफड़ों के कमजोर होने के कारण और उसके लिए किन चीजों से आपको बचना चाहिए (Reasons of of weak and unhealthy lungs and things you should avoid)-

फेफड़ों का कार्य होता है ऑक्सीजन को शरीर के अंदर लाकर उसे रक्त तक पहुंचाना और कार्बन डाइऑक्साइड को शरीर से बाहर फेंकना। जब हमारे फेफड़े किसी वजह से ऑक्सीजन नहीं खींच पाते तो
 खून में भी ऑक्सीजन नहीं मिलती और कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा शरीर में बढ़ जाती है जिससे हमारे फेफड़े धीरे-धीरे कमजोर हो जाते हैं।

 इसकी कई सारी वजह हो सकती हैं। जैसे अगर आपको पहले से ही कोई बीमारी हो जैसे- अस्थमा, सीओपीडी, निमोनिया, मोटापा ज्यादा होना। देखा जाए तो इन सभी बीमारियों के जिम्मेदार कहीं ना कहीं हम खुद ही होते हैं। ज्यादा तला भुना खाना, बाहर का जंक फूड, डब्बा बंद और पैकेट बंद खाना, शराब का सेवन, तंबाकू का सेवन, धूम्रपान यह सब करने से हमारे शरीर में गंदगी जमा हो जाती है और शरीर के अंगों को नुकसान पहुंचाती है। इसका असर हमारे श्वसन तंत्र पर भी पड़ता है और फिर हमारे फेफड़े कमजोर होने लगते हैं।

 खासकर जो लोग शराब और सिगरेट पीते हैं तो उसका एसिड और धुआं हमारी सांस की नली से जाकर फेफड़ों  में भर जाता है और फेफड़े ऑक्सीजन को नहीं खींच पाते। तो जाहिर है तब ऑक्सीजन फेफड़ों तक नहीं पहुंचेगी तो हमारे खून में कैसे जाएगी और शरीर काम करना बंद कर देगा। इसलिए अगर आप भी इन चीजों का सेवन करते हैं तो यकीन मानिए महामारी के इस दौर में यह आपके लिए किसी ज़ेहर से कम नहीं है। शरीर जब तक अंदर से गंदा रहेगा तब तक आप की इम्युनिटी भी नहीं बढ़ेगी। तो इन सारी चीजों के सेवन से हर हाल में बचना जरूरी है। इसलिए आपको इन सब चीजों को छोड़कर अपने फेफड़ों को हेल्दी बनाने के लिए कदम पहला कदम उठाना चाहिए।

(2) फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए ज़रूरी आहार

आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी है की आपको  अपने फेफड़ों को शरीर के बाकी अंगों को स्वस्थ रखने के लिए किस तरह का आहार लेना चाहिए ताकि वायरस आपको नुकसान न पहुंचा पाए। आपके फेफड़ों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए कुछ आवश्यक आहार इस प्रकार हैं-

(a) Food rich in omega 3 fatty acids (ओमेगा 3 वसायुक्त अम्लों से युक्त भोजन)

कई शोधों के आधार पर यह पाया गया है कि ओमेगा 3 वसायुक्त अम्लों से भरपूर खाना हमारे शरीर में अस्थमा के खतरे को कम करके हमारे फेफड़ों को स्वस्थ रखता है और जब यह बात कोविड-19 जैसे खतरनाक वायरस से लड़ने की है तो हमें भी अपनी अपने आहार में इस पोषक तत्व को शामिल करना चाहिए। इसलिए हमें अखरोट, राजमा, चिया के बीज, अलसी के बीज, हरे पत्तेदार सब्जियां जैसे- मेथी, पालक, पत्ता गोभी, ब्रोकली   आयुर्वेद गुणों से युक्त तुलसी, अदरक, लहसुन और वसायुक्त मछली जैसे ट्यूना, सालम और श्रीम यह सब खाने चाहिए क्योंकि इनमें antioxidant और anti-inflammatory गुण होते हैं जो हमारे फेफड़ों को अंदर से साफ और स्वस्थ रखती हैं।

 (b) विटामिन सी का अधिक मात्रा में उपयोग-

 विटामिन सी हमारे शरीर को डिटॉक्स करने के साथ-साथ हमारी (इम्यूनिटी) रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है। विटामिन सी के लिए आप अपने भोजन में संतरा, नींबू, पपीता, कद्दू, गाजर, सेब, लाल शिमला मिर्च, आम, तरबूज, कीवी, हरी मिर्च, लीची, ब्रोकली, स्ट्रॉबेरी, टमाटर, अनानास, आमला यह सब ले सकते हैं। लेकिन यह सब लेने से पहले आप दो बातों का खास ख्याल रखिए, पहली कि अगर आप को sinus allergy की समस्या है या साइनस है तो सिट्रस फ्रूट जैसे- नींबू, संतरा, कीवी, मुसम्मी और खीरे का सेवन न करें। इसके अलावा बाकी चीजें खा सकते हैं। दूसरी आवश्यक बात, अगर आपको कफ़ हो रहा है और म्यूकस यानी बलगम की समस्या है तो वह चीजें जिनकी तासीर ठंडी होती है जैसे वे फल जिनमें पानी की मात्रा अधिक हो, वह नहीं लेनी चाहिए वरना यह म्यूकस को बढ़ा देंगे। हो सकता है इन समस्याओं के चलते आपके अंदर विटामिन सी की कमी पूरी ना हो पाए तो उसके लिए आप डॉक्टर से विटामिन सी के सप्लीमेंट्स लिखवा लीजिए और उनका सेवन कीजिए।

(c) चुकंदर का सेवन-

 चुकंदर का सेवन करना भी फेफड़ों के लिए फायदेमंद है। चुकंदर में नाइट्रेट होता है जो हमारी रक्त नालियों को शांत करता है और ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखता है जिससे फेफड़े भी ठीक प्रकार से काम करते हैं और हमें सही मात्रा में ऑक्सीजन मिलती रहती है।

(d) खाने में हल्दी का प्रयोग-

 इसके अलावा आप खाने में हल्दी का प्रयोग भी कर सकते हैं। हल्दी प्राकृतिक, एंटीसेप्टिक और ढेर सारे औषधीय गुणों से भरपूर होता है। यह केवल आपके फेफड़ों को स्वस्थ नहीं रखता बल्कि आपकी अस्थमा, फेफड़ों की अन्य समस्याओं जैसे सीओपीडी (COPD) बीमारियों पर भी काम करती है। इसलिए रात में सोने से पहले एक गिलास हल्दी वाला दूध जरूर लें ताकि फेफड़ों के साथ-साथ शरीर के बाकी अंग भी स्वस्थ रहें। इसके अलावा खाने में भी हल्दी का इस्तेमाल जरूर करें। अगर आपको हल्दी वाला दूध पीने में कोई परेशानी है तो आप आधा चम्मच हल्दी एक गिलास गुनगुने पानी में मिलाकर पी सकते हैं।

(3) फेफड़ों को डिटॉक्स करना (To detox lungs):-

शरीर के अंदर की गंदगी को बाहर निकालना और फेफड़ों को स्वस्थ रखना जरूरी है। यदि आप एक स्वस्थ संपूर्ण आहार लेंगे और शरीर को डिटॉक्स करते रहेंगे तो कोई भी वायरस का इन्फेक्शन हम को नुकसान नहीं पहुंचा पाएगा क्योंकि हमारा शरीर अंदर से साफ होगा। तो आइए डिटॉक्स करने के कुछ तरीकों के बारे में जानते हैं-

a) भाप द्वारा चिकित्सा (steam therapy)-

भाप लेने से हमारी सांस की नली बिल्कुल खुल जाती है और साथ ही अगर आप को म्यूकस यानी बलगम है तो वह भी पिघल जाता है जिससे आप को सांस लेने में आसानी होती है। इस प्रकार से ऑक्सीजन फेफड़ों तक आसानी से पहुंचती रहती है और फेफड़े भी सही प्रकार से अपना कार्य करते हैं इसलिए दिन में दो से तीन बार भाप जरूर लें।

b) भरपूर मात्रा में पानी पिए (Increase water intake)-

आप को भरपूर मात्रा में पानी पीना चाहिए। अगर आपको कफ है तो गुनगुना पानी पिए। लेकिन दिन भर में 3 से 4 लीटर पानी पीना जरूरी है, ताकि आपको आपका शरीर Detox होता रहे और यूरिन के जरिए सारी गंदगी शरीर से बाहर निकल जाए। इसके साथ ही पानी में ऑक्सीजन भी होता है जिसकी आपके शरीर को बहुत ही जरूरत है। साथ ही कोरोनावायरस के इस स्ट्रेन में लोगों को उल्टी व डायरिया भी हो रहा है तो जितना हो सके अपने शरीर में पानी की उचित मात्रा बनाए रखें।

c) Detox Drink-

आप अपने शरीर को डिटॉक्स करने के लिए ड्रिंक्स भी बना सकते हैं। आइए जानते हैं उन ड्रिंक के बारे में -

*आधा छोटा चम्मच हल्दी को एक गिलास गर्म पानी में मिलाकर दिन में दो से तीन बार पीना है लेकिन इससे पीने के बाद कम से कम 2 घंटे आपको और कुछ भी नहीं खाना है। हल्दी एंटीसेप्टिक होती है तो यह आपकी बॉडी के अंदर कीटाणु और बैक्टीरिया को नष्ट कर देती है।

* इसके साथ ही ग्रीन टी भी बहुत उपयोगी है। ग्रीन टी में ढेर सारे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं और साथ ही है डिटॉक्स का भी काम करती है तो दिन में दो से तीन कप ग्रीन टी जरूर लें। लेकिन ग्रीन टी आपको बिना चीनी के ही लेनी है वरना यह डिटॉक्स का काम नहीं करेगी।




(4) योग व ध्यान (Yoga & Meditation):-

रोज सुबह थोड़ी देर हम सभी को ध्यान जरूर लगाना चाहिए। इन सभी कार्यों से थोड़ा समय निकालकर थोड़ी देर ध्यान लगाएं। एक शांत जगह पर बैठकर लंबी गहरी सांसे लें। थोड़ा संगीत सुने ताकि आपके मस्तिष्क को आराम मिले व आप तरोताजा महसूस करें।इसके साथ ही आधा घंटा योग करें जिसमें भास्त्रिका, आलोम- विलोम, सूर्य नमस्कार, त्रिकोण आसन, मत्स्यासन, नदी शोधन, प्राणायाम, भुजंगासन यह सभी करें इनसे हमारे फेफड़ों को एक ऊर्जा मिलती है और साथ ही हमारा मस्तिष्क और शरीर भी को भी आराम मिलता है। योग और ध्यान का एक फायदा यह भी है कि यह हमारी मानसिक स्थिति को स्वस्थ रखता है।

 आजकल दिनभर टेलीविजन पर खबरें और कोरोना के बढ़ते हुए मामलों के बारे में सुन सुनकर हम इतने परेशान हो जाते हैं कि स्वयं को ही एक बीमार व्यक्ति महसूस करने लगते हैं और कहीं अगर हमारे रिपोर्ट पॉजिटिव आ गई तो वायरस से ज्यादा तो हम अपनी बुरी मानसिकता के शिकार हो जाते हैं जिससे हालत और बिगड़ जाती है इसलिए मन शांत रखिए और परेशान न हों।

आज के लेख में हमने जाना कि हम अपने फेफड़ों को स्वस्थ और मजबूत रखने के कौन-कौन से तरीके अपना सकते हैं। डॉक्टर भी आजकल यही उपाय करने की सलाह देते हैं ताकि आपको कोविड-19 जैसे खतरनाक वायरस के से लड़ने की शक्ति मिल सके। अगर आपका शरीर अंदर से स्वस्थ रहेगा तो कोई भी वायरस आपके आंतरिक अंगों को नुकसान नहीं पहुंचा पाएगा। इसलिए स्वस्थ आहार लीजिए अपने शरीर को डिटॉक्स करिए और योग व ध्यान जरूर करिए। मैं आशा करती हूं कि इस लेख से आपको बहुत मदद मिली होगी।

No comments:

Post a Comment